पद्मावती पर फिर विवाद, बीजेपी ने की फिल्म बैन करने की मांग

पद्मावती को लेकर विवाद थमता हुआ नजर नहीं आ रहा है । पहले से कई गुट फिल्म का विरोध कर रहे हैं। संजय लीला भंसाली पर इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया जा रहा है लेकिन इसके साथ ही अब पद्मावती की मुश्किलें और भी ज्यादा बढ़ गई है। जी हां दरअसल गुजराज बीजेपी ने फिल्म को लेकर सवाल खड़े कर दिए हैं। भारत निर्वाचन आयोग और गुजरात मुख्य निर्वाचन आयुक्त को पत्र लिखते हुए राजपुतों के प्रतिनीधियों ने लिखा है कि जब तक पद्मावती की कंट्रोवर्सी खत्म नहीं हो जाती तब तक फिल्म के रिलीज होने पर रोक लगा दी जानी चाहिए।  जी हां उन्होंने ये पत्र सेंसर बोर्ड को भी लिखा चाहते हैं।बीजेपी प्रवक्ता और राजपूत नेता आई के जडेजा ने कहा कि बीजेपी चाहती है कि या तो पद्मावती चुनाव के बाद गुजरात में रिलीज की जाए या उसे बैन ही कर दिया जाए।

जडेजा ने कहा, ‘क्षत्रिय, राजपूत प्रतिनिधियों ने हमसे मिलकर फिल्म में किसी तरह से इतिहास और रानी पद्मावती के चरित्र के साथ छेड़छाड़ किए जाने का विरोध किया है। इतिहास के हिसाब से रानी पद्मावती कभी अलाउद्दीन खिलजी से नहीं मिली थीं।’ उन्होंने कहा कि गुजरात में चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में फिल्म में तथ्यों के साथ किसी तरह की छेड़छाड़ नहीं की होनी चाहिए जिससे राजपूत-क्षत्रिय समुदाय की भावनाएं आहत हों।उनका साथ ही ये भी कहना है कि अगर गुजरात में पद्मावती रिलीज होती है तो हंगामा होगा और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचने का भी खतरा होगा । इसलिए बेहतर होगा कि फिल्म की रिलीज को रोक दिया जाए। आपको साथ ही ये भी बता दें कि इसके पहले दिग्गज नेता शंकर सिंह वाघेला भी पद्मावती की रिलीज पर सवाल उठा चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *