राम रहीम यौन शोषण के दोषी करार, 5 राज्यों में हिंसा, अब तक 32 लोगों की मौत

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को CBI की स्पेशल कोर्ट ने शुक्रवार को यौन शोषण का दोषी करार दिया। फैसला हरियाणा के पंचकूला में दोपहर करीब 3 बजे सुनाया गया। इसके बाद हिंसा शुरू हो गई। कुछ ही घंटों में ये हिंसा हरियाणा के बाकी शहरों समेत पंजाब, दिल्ली, यूपी और राजस्थान तक पहुंच गई। अब तक 32 लोगों की मौत हो चुकी है। 250 से ज्यादा लोग घायल हैं। इनमें 28 की जान पंचकूला और 4 की जान सिरसा में गई। प्रेसिडेंट रामनाथ कोविंद, नरेंद्र मोदी, राजनाथ सिंह, हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की। इस बीच, पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने कहा कि हिंसा और आगजनी से हुए नुकसान की भरपाई डेरा सच्चा सौदा से करवाई जाएगी। बता दें कि फैसले के बाद राम रहीम को रोहतक के पुलिस ट्रेनिंग कैम्प में अस्थायी जेल में शिफ्ट किया गया है। सजा का एलान 28 अगस्त को किया जाएगा|

15 साल पुराना है मामला 

अप्रैल 2002 में पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट और तब के पीएम अटल बिहारी वाजपेयी को एक साध्वी ने चिट्ठी के जरिए शिकायत भेजी। लेटर के फैक्ट्स की जांच का जिम्मा सिरसा के सेशन जज को साैंपा गया। सीबीआई को जांच के निर्देश दिए गए। 2005-2006 के बीच में सतीश डागर ने इन्वेस्टिगेशन की और उस साध्वी को ढूंढा जिसका यौन शोषण हुआ था।  जुलाई 2007 में सीबीआई ने अंबाला सीबीआई कोर्ट में चार्जशीट फाइल की। यहां से केस पंचकूला शिफ्ट हो गया। बताया गया कि डेरे में 1999 और 2001 में कुछ और साध्वियों का भी यौन शोषण हुआ, लेकिन वे मिल नहीं सकीं।  दिसंबर 2002 में सीबीआई ब्रांच ने राम रहीम पर धारा 376, 506 और 509 के तहत केस दर्ज किया। 25 अगस्त 2017 को इस मामले में फैसला आया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *